फोन पर सबसे पहले हेलो क्यों बोलते हैं?

why say hello on phone




चलिए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं फोन पर हेलो बोलने का इतिहास, इसके पीछे एक बहुत ही दिलचस्प कहानी है जो आज हम आपसे इस पोस्ट के जरिये शेयर करने जा रहे हैं.





दोस्तों सबको पता हैं ये एक सामान्य सा शब्द हेलो ! जी हाँ, जब भी किसी का मोबाइल फ़ोन या लैंडलाइन बजता है सबसे पहले फोन उठाते ही जो सबसे पहला शब्द हम बोलते हैं वो हैं हेलो! जब भी किसी का फोन आएगा हम आप और आपके दोस्त सभी इस शब्द का प्रयोग करते हैं और ये हम बहुत पहले से करते आ रहे हैं. पर क्या कभी आपने सोचा है की सबसे पहले हेलो शब्द का प्रयोग किसने किया होगा ?
या किसने सबसे पहले हेलो शब्द को बोला होगा ?
वैसे आप में से ज्यादातर लोगो को जवाब ना ही होगा, चलिए कोई बात नहीं आज हम आपको बताएंगे इसके पीछे का एक बहुत ही रोमांचक इतिहास, जिसके बारे में शायद ही कोई जानता होगा | हेलो की शुरुवात आखिर कहाँ से हुई किस देश में और किसने सबसे पहले हेलो शब्द का प्रयोग किया!

अगर आप और आपके दोस्तों को ये लगता है कि फ़ोन उठाने पर सबसे पहले हेलो बोलने के पीछे ग्राहम बेल कि लव स्टोरी हैऔर उन्होंने टेलीफ़ोन का आविष्कार करने के बाद सबसे पहले अपनी गर्लफ्रेंड ‘मारग्रेट हैलो’ को फ़ोन पर प्यार से ‘Hello’ बोला था तो आप गलत हैं

जर्मन का एक शब्द था हाला, जो की होला शब्द से बना है ये शब्द पुराने फ्रांसीसी या जर्मन शब्द होला से निकला है. जिसका अर्थ होता है “कैसे हो” या “कैसा हाल है जनाब का” यह परिभाषा इंग्लिश डिक्शनरी ऑक्सफ़ोर्ड के अनुसार दी गयी है.

लेकिन अगर हम प्राचीन इतिहास में जाए तो इस शब्द का इस्तेमाल समुद्र में यात्रा के दौरान नाविक किया करते थे. सन 1300 जो की अंग्रेज कवि चॉसर का जमाना था तब तक हालो शब्द बन चूका था. फिर करीब दो सौ साल बाद यानी शेक्सपियर के जमाने में इस शब्द को हालू बना दिया गया. फिर शिकारियों और मल्लाहिन ने इसका इस्तेमाल कुछ इस तरह किया की ये शब्द हालवा, हालूवा, बनते बनते होलो बन गया.

जब पहली बार ग्राहम बेल ने किया टेलीफ़ोन का आविष्कार और फ़ोन पर Hello की जगह कहा Ahoy

Grahambell-first-telephone

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने 10 मार्च 1876 को टेलीफोन का अविष्कार किया. टेलीफोन की खोज करने के लिए बेल ने यूनाइटेड स्टेट से उनके टेलीफोन आविष्कार के लिए पेटेंट लिया जिससे कोई भी उनके विचार कॉपी न कर सके. 3 अगस्त 1876 को उन्होंने पहला लंबी दुरी का कॉल लगाया।

graham bell

आपने कई जगह ये पढ़ा होगा या अपने दोस्तों से सुना होगा की फोन उठाने के बाद जो हम hello कहते हैं उसके पीछे टेलीफोन के महान अविष्कारक ग्राहम बेल की एक लव स्टोरी है और उन्होंने ही टेलीफोन के अविष्कार के बाद सबसे पहले अपनी गर्लफ्रेंड “मारग्रेट”को फ़ोन पर ‘Hello’ कहा था तो ये बात सच नहीं हैं जानिये आखिर सच क्या क्या है ? और उन्होंने पहला call किसको किया और क्या कहा फ़ोन प.

अभी तक की कहानी पढ़ने कइ बाद अभी तक आप ये बात जान गए होंगे की ग्राहम बेल ने तो कभी फ़ोन पर Hello कहा ही नहीं. जी हाँ, फ़ोन का आविष्कार करने के बाद उन्होंने सबसे पहले अपने असिस्टेंट को फ़ोन पर कहा था, “Come-here. I want to see you.” लेकिन उनको ये बोलना पसंद नहीं आया. इसलिए उन्होंने इतने लंबे वाक्य की जगह ‘Ahoy Ahoy’ बोलने का प्रस्ताव रखा. वे हमेशा से अपने निजी जीवन में “Ahoy” शब्द का प्रयोग थे. और फिर इसी शब्द का इस्तेमाल फ़ोन पर बात शुरू करने से पहले किया जाने लगा.

hello-invention-telefon

जब लोगों ने टेलीफोन का आविष्कार होने के बाद इसका इस्तेमाल करना शुरू किया, तो शुरूआत में लोग फोन पर पूछा करते थे ‘Are You There?’ लेकिन वो ऐसा केवल ये पता करने के लिए बोलते थे कि उनकी आवाज दूसरी ओर पहुंच रही है या नहीं. क्योकि तब लोगो को विश्वास नहीं था की उनकी आवाज दूसरी और तक पहुँच रही है.

सबसे पहले हेलो का प्रस्ताव थॉमस एडिसन द्वारा दिया गया और उन्होंने ही सबसे पहले फ़ोन पर हेलो कहने की शुरुआत की

Thomas-edison




लेकिन एक बार फोन पर, थॉमस एडिसन ने ‘Ahoy’ को गलती से ‘hullo’ सुन लिया और 1877 में उन्होंने पहली बार फोन पर ‘Hello’ बोलने का प्रस्ताव रखा. इसके लिए उन्होंने पिट्सबर्ग की ‘सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट एंड प्रिंटिंग टेलीग्राफ कम्पनी’ के अध्यक्ष टीबीए स्मिथ को पत्र लिखा और कहा कि टेलीफ़ोन पर पहले शब्द के रूप में ‘Hello’ बोला जाना चाहिए. इस प्रस्ताव के लागू होने के बाद जब उन्होंने पहली बार फोन किया तो सबसे पहले कहा ‘Hello’. कि आज हम जब भी फ़ोन उठाते हैं तो ‘Hello’ बोलते हैं जो की उन्ही की देन है.

अगर आपको लगता हैं की आपकी ग़लतफहमी को दूर करने में हम जरा भी कामयाब हुए तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों क साथ शेयर करे और उनकी ग़लतफहमी करें

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *